माइग्रेन क्यों होता है? – What is The Cause of Migraine?

363
माइग्रेन क्यों होता है? - migraine kyu hota hai

क्या आप जानते हैं कि ये माइग्रेन क्या है? और माइग्रेन क्यों होता है? माइग्रेन की समस्या आजकल अधिकतर लोगों में देखने को मिलती है. आमतौर पर कुछ लोग इसे सामान्य सिरदर्द मान लेते है लेकिन यह दर्द साधारण नहीं होता है बल्कि एक विशेष तरह का सिरदर्द है.

माइग्रेन क्या है? –What is Migraine?

माइग्रेन तेज व कष्टदायक सिरदर्द होता है जिसमें सिर के केवल आधे हिस्से में झनझनाहट के साथ ही बहुत तेज दर्द महसूस होता है. माइग्रेन का दर्द सिर के केवल एक तरफ को प्रभावित करता है. यह दर्द धीरे-धीर शुरू होकर बहुत तेज बढ़ता जाता है.

यूं तो माइग्रेन का दर्द अधिकतर आधे सिर में होता है लेकिन कभी-कभी यह दर्द पूरे सिर को अपनी चपेट में ले लेता है. माइग्रेन मस्तिष्क में तंत्रिका तंत्र के विकार के कारण होता है.

माइग्रेन क्यों होता है? – Causes of Migraine          

नीचे कुछ कारण दिए गये हैं जिनकी वजह से कोई व्यक्ति माइग्रेन से पीड़ित हो सकता है.

जेनेटिक कारण

कई बार यह समस्या बचपन से ही हो सकती है और इसका पता व्यस्क होने पर चलता है. एक रिसर्च के अनुसार, लगभग 90% लोगों को जेनेटिक कारण की वजह से माइग्रेन होता है.

हार्मोन्स परिवर्तन होना

महिलाओं में हार्मोन्स इम्बैलेन्स जैसे- मासिक धर्म, प्रेगनेंसी, मोनोपोज़ के दौरान कई सारे हार्मोनल चेंजेस होते हैं और एस्ट्रोजन हार्मोन में उतार-चढ़ाव होते रहते हैं. इस बदलाव की वजह से भी माइग्रेन का तीव्र दर्द होता है.

अत्यधिक धूम्रपान व शराब का सेवन

अत्यधिक धूम्रपान व शराब का सेवन करने से भी आपको माइग्रेन की समस्या हो सकती है.

तनाव लेना या अधिक गुस्सा करना

जो लोग बहुत अधिक तनाव लेते हैं या बहुत अधिक गुस्सा करते हैं वे लोग माइग्रेन से ज्यादा पीड़ित रहते हैं क्योंकि मानसिक तनाव और गुस्से का सीधा असर आपकी मानसिक कोशिकाओं पर पड़ता है.

अत्यधिक दवाई का सेवन करना

बहुत से लोग छोटी से छोटी बीमारी पर भी बिना डॉक्टर को पूछे कोई भी दवा या पेनकिलर ले लेते हैं. लेकिन इनके असीमित इस्तेमाल से आपको माइग्रेन की समस्या उत्पन्न होने लगती है.

नींद पूरी न होना

आज की व्यस्तम ज़िंदगी में किसी के पास अपना ख़याल रखने के लिए वक़्त ही नहीं है. कई सारे लोग सुबह देर से उठते हैं और देर रात तक जागकर काम करते हैं. और इसका परिणाम ये होता है कि वे माइग्रेन जैसे सिर के असहाय दर्द से पीड़ित रहते हैं.

अत्यधिक शोर एवं गर्मी में रहना

बहुत अधिक शोर-शराबे में और अत्यधिक गर्मी या धूप में रहने से भी आप माइग्रेन के शिकार हो सकते हैं. इसलिए यदि आप सिरदर्द से परेशान रहते हैं तो आपको भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाने से बचना चाहिए और अधिक गर्मी में नहीं रहना चाहिए.

कंप्यूटर, लेपटॉप या मोबाइल में घंटों बिताना

जो लोग लगातार बहुत देर तक कंप्यूटर, लेपटॉप या मोबाइलइ स्क्रीन के सामने घंटों बिता देते हैं उन्हें माइग्रेन की शिकायत अधिक होती है. यहां तक कि मोबाइल में घंटो तक बिज़ी रहने की वजह से आजकल छोटी उम्र के बच्चे भी माइग्रेन के शिकार हो रहे हैं.

भूखा रहना और शरीर में पानी की कमी होना

बहुत अधिक देर तक भूखा रहने से और पर्याप्त पानी न पीने की वजह से भी आपको माइग्रेन की समस्या हो सकती है.

माइग्रेन से जुड़े सवाल-जवाब – FAQ

  1. क्या माइग्रेन का इलाज योग के द्वारा संभव है?

    जी हां, सिर में असहाय दर्द का इलाज कुछ योगसनों के द्वारा जैसे- पद्मासन, शिशुआसन, आदि से संभव है. इसके अलावा नियमित रूप से व्यायाम करने से, ध्यान व योग से भी मस्तिष्क की कोशिकाएं खुलती हैं, दिमाग तनाव मुक्त होता है और माइग्रेन से राहत मिलती है.

  2. ब्रेन सर्जरी कब की जाती है?

    जब माइग्रेन से पीड़ित व्यक्ति को किसी भी उपचार से राहत नहीं मिलती है तब डॉक्टर उसे ब्रेन सर्जरी कराने की सलाह देते हैं. सर्जरी के द्वारा मरीज के उस हिस्से को ठीक किया जाता है, जिसके कारण व्यक्ति के सिर में असहाय दर्द होता है.

  3. माइग्रेन को दूर करने के लिए कौन सा योग करें?

    माइग्रेन को दूर करने के लिए प्राणायाम, अनुलोम-विलोम प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम करना फायदेमंद रहता है.

  4. क्या महिलाओं को माइग्रेन होने की संभावना अधिक रहती है?

    जी हां, पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं को माइग्रेन होने की संभावना अधिक रहती है. लगभग 60% महिलाएं पीरियड्स के दौरान माइग्रेन से पीड़ित होती हैं.

  5. माइग्रेन से क्या ख़तरा हो सकता है?

    माइग्रेन का सबसे बड़ा ख़तरा ये होता है कि लगातार माइग्रेन की असहनीय पीड़ा की वजह से मरीज को कभी-कभी ब्रेन हेमरेज या लकवा भी पड़ सकता है.