अलसी के फायदे – Top 6 Benefits of Flaxseeds

968
अलसी के फायदे – Top 6 Benefits of Flaxseeds

अलसी हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है. शरीर के लिए अलसी के फायदे बहुत अधिक हैं इसलिए यह एक महत्वपूर्ण जड़ी बूटी के रूप में लोकप्रिय है. यदि रोज़ाना अपने आहार में अलसी को शामिल किया जाए तो यह शरीर में प्रोटीन की कमी को भी पूरा करती है.

अलसी को ‘तीसी’ भी कहा जाता है जिसका इस्तेमाल औषधि के रूप में भी किया जाता है. चाहे अलसी के बीज हो, अलसी का पाउडर हो या फिर अलसी का तेल यह सभी रूपों में शरीर को लाभ ही पहुंचाती है. अलसी के औषधीय गुण किसी वरदान से कम नहीं हैं.

अलसी खाने के फायदे

अलसी में भरपूर मात्रा में आयरन, फास्फोरस, प्रोटीन, ज़िंक, विटामिन-ए, विटामिन-सी, विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स, मैग्नीशियम, कॉपर, कैल्शियम और ओमेगा-3 मौजूद होता है.

एक चम्मच पिसी हुई अलसी में निम्नलिखित तत्व मौजूद होते हैं :

कैलोरी: 37
प्रोटीन: 1.3 ग्राम
कार्ब्स: 2 ग्राम
फाइबर: 1.9 ग्राम
कुल वसा: 3 ग्राम
संतृप्त वसा: 0.3 ग्राम
मोनोअनसैचुरेटेड वसा: 0.5 ग्राम
पॉलीअनसेचुरेटेड वसा: 2.0 ग्राम

ओमेगा-3 फैटी एसिड: 1,597 मिलीग्राम
विटामिन बी1: आरडीआई का 8%
विटामिन बी6: आरडीआई का 2%
फोलेट: RDI का 2%
कैल्शियम: RDI का 2%
आयरन: RDI का 2%
मैग्नीशियम: RDI का 7%

फास्फोरस: RDI का 4%
पोटेशियम: RDI का 2%

आइए अब जानते हैं कि अलसी के फायदे क्या-क्या हैं.

पाचन दुरुस्त करे अलसी

जिन लोगों का पाचन तंत्र सही से काम नहीं कर रहा है, भूख नहीं लगती है या कोई भी पाचन संबंधी समस्या रहती है तो उन लोगों के लिए अलसी काफ़ी मददगार साबित होती है.

कब्ज की समस्या दूर करे

अलसी में फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है. इसलिए जो लोग कब्ज की समस्या से अक्सर परेशान रहते हैं उन्हें अलसी को अपनी डेली डाइट में ज़रूर शामिल करना चाहिए.

रोजाना अलसी के पाउडर को गर्म पानी के साथ खाने से आपकी कब्ज की समस्या आसानी से दूर हो सकती है.

हृदय को स्वस्थ रखे अलसी के बीज

अलसी के भूरे-काले रंग के छोटे-छोटे बीज आपके हृदय के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं. यदि आप शाकाहारी हैं या मछली नहीं खाते हैं, तो अलसी आपके लिए ओमेगा-3 वसा का सबसे अच्छा स्रोत हो सकता है.

इसमें मौजूद फाइबर और ओमेगा-3 नैचुरल तरीके से आपके शरीर में कॉलेस्ट्रोल को नियंत्रित करता है जिससे हृदय की धमनियों में जमा कॉलेस्ट्रोल घटने लगता है, ब्लड सर्कुलेशन सुचारू रूप से होने लगता है और आपका हृदय स्वस्थ रहता है.

अलसी के बीज में मौजूद फाइबर ‘बैड कॉलेस्ट्रोल’ की मात्रा को कम करके ‘गुड कॉलेस्ट्रोल’ की मात्रा को बढ़ाता है. लेकिन यदि आपका ट्राइग्लिसराइड {हार्ट का फैट} बहुत अधिक बढ़ा हुआ है तो उस स्थिति में अलसी का सेवन करने से आपको बचना चाहिए क्योंकि, अलसी के बीजों में पर्याप्त ऑयल मौजूद होता है और ऑयल आपके हार्ट के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है.

ब्लड शुगर को नियंत्रित करे अलसी

शुगर के पेशेंट के लिए अलसी बहुत ही फायदेमंद है. यदि सीमित मात्रा में अलसी का सेवन किया जाए तो यह खून में शुगर के लेवल को नियंत्रित करने का काम करती है.

जोड़ों के दर्द में राहत दे अलसी

अलसी जोड़ों के दर्द और अकड़न को कम करने में सहायक होती है. जिन्हें गठिया या अर्थोराइटिस की समस्या है उन्हें अलसी का सेवन करना चाहिए.

महिलाओं के लिए अलसी के फायदे 

महिलाओं के लिए भी अलसी बहुत ही फायदेमंद है. अलसी आपके मोटापे को नियंत्रित करने में सहायक होती है. जिन महिलाओं का वजन बढ़ा हुआ है यदि वो रोज़ाना अलसी के पाउडर का सेवन करें तो उनका वजन बहुत जल्दी कंट्रोल में आ जाता है.

अलसी के बीज आपकी स्किन के लिए बहुत लाभकारी हैं. अलसी के सेवन से चेहरे पर चमक आ जाती है और चेहरे की झुर्रियां और कील-मुंहांसे भी साफ़ हो जाते हैं.

बालों के लिए भी अलसी बहुत ही लाभकारी है. अलसी के बीजों से तैयार किया गया जेल या शैंपू इस्तेमाल करने से आपका गंजापन भी दूर हो सकता है. जिन महिलाओं के बाल बहुत झड़ रहे हों उन्हें अलसी का सेवन करना चाहिए और साथ ही अलसी का तेल या अलसी के बीजों से तैयार जेल को बालों में लगाने से बालों को उचित प्रोटीन मिलता है, बाल झड़ने बंद होते हैं, नए बाल उगते हैं और बाल सिल्की, शाइनी और मजबूत होते है.

गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को किसी भी रूप में अलसी के सेवन से बचना चाहिए.

ये भी ज़रूर पढ़ें:

alsi ke tel ke fayde

अलसी का तेल

अलसी का तेल भी बहुत लाभकारी होता है. अलसी के तेल की मालिश करने से शरीर के अंग स्वस्थ रहते हैं. चेहरे पर इस तेल की मसाज करने से चेहरे की स्किन कांतिमय हो जाती है.

अलसी की तासीर

अलसी की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका सेवन सर्द मौसम में अधिक किया जाता है. सर्दियों में अलसी का सेवन करना आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है. आप गर्मियों में भी इसका सेवन कर सकते हैं लेकिन गर्मी के मौसम में इसका इस्तेमाल कम मात्रा में करें और इसके साथ पानी का अधिक सेवन करें तो यह आपको कोई नुक्सान नहीं पहुंचाएगी.

अलसी खाने का तरीका

कई लोगों के मन में यह सवाल होता है कि अलसी खाने का तरीका क्या है, इसे कैसे खाना चाहिए?

अलसी को यदि सही तरीके से खाया जाए तो यह लाभदायक है लेकिन यदि आप इसका सेवन गलत तरीके से करते हैं तो यह फायदे की जगह आपको नुक्सान भी पहुंचा सकती है. इसलिए आपको अलसी खाने का तरीका भी मालूम होना चाहिए.

बाज़ार से हमेशा ऑर्गनिक अलसी ही खरीदें. अलसी के बीज की बाहरी परत बहुत हार्ड होती है इसलिए इन्हें साबुत खाने से आपको पेट दर्द की शिकायत हो सकती है. अलसी का सेवन करते समय यह ज़रूर ध्यान में रखें कि अलसी के बीजों को साबुत नहीं खाना चाहिए क्योंकि साबुत बीज खाने से आंतें इसे पचा नहीं पाती हैं जिस वजह से शरीर को इसके ज़रूरी पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं.

अलसी को सदैव पीसकर या पाउडर के रूप में ही खाना चाहिए. अलसी को हल्की आंच पर भूनकर इसका पाउडर बना लें और तभी इसका इस्तेमाल करें. कच्ची और अधपकी अलसी का सेवन करने से बचें क्योंकि इसमें विषाक्त तत्व मौजूद होते हैं.

अलसी को भूनकर इसका पाउडर बनाकर गर्म पानी के साथ पीना चाहिए. आप अलसी के लड्डू बनाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं. अलसी के पाउडर को दही में मिलाकार भी खाया जा सकता है.

अलसी को खाने का उचित समय सुबह होता है. अतः सुबह के समय खाली पेट अलसी का सेवन करना अधिक फायदेमंद है.

यदि आप अलसी के तेल का प्रयोग कर रहे हैं तो इसे फ्रिज में ही रखें क्योंकि यह तेल जल्दी खराब हो जाता है. एक्सपायरी डेट निकल जाने के बाद इस तेल का प्रयोग नहीं करना चाहिए. 

वैसे तो अलसी सभी के लिए फायदेमंद होती है लेकिन जो लोग किसी भी बीमारी की कोई दवाई ले रहे हैं उन्हें डॉक्टर के परामर्श पर ही अलसी का सेवन करना चाहिए.

अलसी से जुड़े सवाल-जवाब

  1. एक दिन में अलसी का सेवन कितनी मात्रा में करना चाहिए?

    एक दिन में 1-2 बड़े चम्मच अलसी का पाउडर एक स्वस्थ मात्रा मानी जाती है. एक चम्मच पिसी हुई अलसी में 37 कैलोरी, 2 ग्राम पॉलीअनसेचुरेटेड वसा (ओमेगा -3 फैटी एसिड शामिल है), 0.5 ग्राम मोनोअनसैचुरेटेड वसा और 2 ग्राम आहार फाइबर होता है.

  2. क्या अलसी का सेवन करना महिलाओं के लिए फायदेमंद है?

    अलसी महिलाओं के लिए विशेष रूप से फायदेमंद होती है. अलसी के बीज सामान्य ओव्यूलेशन की प्रक्रिया और हार्मोनल संतुलन को बनाए रखने में भी मदद करते हैं. इसके अतिरिक्त अलसी में मौजूद फैटी एसिड महिलाओं की त्वचा में नमी और बालों में चमक बरकरार रखने में भी सहायक होती है.

  3. अलसी का सेवन सुबह या रात के समय करना चाहिए?

    अपने मेटाबोलिज्म को बढ़ाने के लिए आपको अलसी का सेवन सुबह के समय एक कप गर्म पानी के साथ करना चाहिए. वैसे तो आप अलसी का सेवन किसी भी वक़्त कर सकते हैं लेकिन, इसे इस्तेमाल करने का सबसे उचित समय सुबह उठते ही माना जाता है.

  4. अलसी का सेवन किन्हें नहीं करना चाहिए?

    आंतों की बीमारी से पीड़ित लोगों को अलसी के सेवन से बचना चाहिए. इसके अतिरिक्त अन्य किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित होने पर आपको डॉक्टर के परामर्श पर ही अलसी का सेवन करना चाहिए.