प्रेगनेंसी में आम खाना चाहिए या नहीं?- Mango In Pregnancy

463
प्रेगनेंसी में आम खाना चाहिए या नहीं - Can I Eat Mango In Pregnancy?

प्रेगनेंसी ऐसा समय है जब हर गर्भवती महिला को कई स्वादिष्ट व्यंजन और आहार खाने की बहुत इच्छा होती है. ऐसे में जब बात आम खाने की हो तो कहना ही क्या. अक्सर हमारे बड़े-बुजुर्गों के द्वारा गर्भवती महिलाओं को खानपान को लेकर बार-बार हिदायत दी जाती है, जिससे महिलाएं असमंजस में रहती हैं कि जो भो वो खाना चाहती हैं क्या उसे खाना सही रहेगा अथवा नहीं. तो आज इस लेख में हम आपको बताएंगे कि गर्भवती महिला को प्रेगनेंसी में आम खाना चाहिए या नहीं.

क्या प्रेगनेंसी में आम खाना चाहिए?

प्रेगनेंसी में आम खाना गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद होता है. प्रेगनेंसी के समय गर्भवती महिला को प्रोटीन, विटामिन, फॉलिक एसिड, आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम व अन्य पोषक तत्वों की बहुत आवश्यकता होती है. और ये सभी पोषक तत्व आम में मौजूद होते हैं. अतः यदि गर्भवती महिला आम का सेवन संतुलित मात्रा में करें तो यह उनके व होने वाले शिशु दोनों के लिए पूर्णतयः सुरक्षित है.

प्रेगनेंसी में आम का सेवन कितनी मात्रा में करना चाहिए?

आम का सेवन करने से पहले गर्भवती महिला को यह ध्यान में रखना बहुत जरूरी है कि वह आम को कितनी मात्रा में खाएं. दिन में आप एक या दो आम का सेवन कर सकती हैं. इससे अधिक आम का सेवन ना करें. एक या दो आम खाने से भी आपके शरीर को पर्याप्त  कैलोरी मिल जाती है. अपने डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही आप अपनी डाईट में आम की मात्रा बढ़ा सकती हैं.

प्रेगनेंसी में आम कब खाना चाहिए?

यदि गर्भवती महिला का कुछ मीठा खाने का मन करे तो चॉकलेट या केक खाने से बेहतर है, प्राकृतिक रूप से पका हुआ आम खाना. हल्की भूख लगने पर आम खाना एक अच्छा विकल्प हो सकता है.

आम में कैलोरी भी अधिक मात्रा में मौजूद होती है, इसलिए पहली व तीसरी तिमाही में आम खाना सबसे फायदेमंद माना जाता है. क्योंकि इस वक्त आपको सबसे अधिक कैलोरी की जरूरत होती है. लेकिन इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए.

Also Read:

प्रेगनेंसी में आम खाने के फायदे

  1. आम में विटामिन A प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो कि गर्भवती महिला के शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी नहीं होने देता जिससे महिला एनीमिया की शिकार नहीं होती है और साथ ही इसके सेवन से आँखों की रौशनी भी तेज होती है और होने वाले शिशु की हड्डियाँ मजबूत बनती हैं.
  2. आम में फॉलिक एसिड की मात्रा पाई जाती है, जो कि भ्रूण के विकास के लिए बहुत ही आवश्यक होता है और इससे तंत्रिका तंत्र संबंधी विकार का ख़तरा भी कम हो जाता है.
  3. आम फाइबर का बहुत ही अच्छा स्रोत है. इसमें मौजूद फाइबर महिला के पाचन तंत्र को सही रखता है.
  4. इसके सेवन से कब्ज की रोकथाम में मदत मिलती है.
  5. इसमें उपस्थित मैग्नीशियम भ्रूण के विकास में आने वाले अवरोधों को रोकने में सहायक होता है और यह गर्भवती महिला के उच्च रक्तचाप को भी नियंत्रित रखता है.
  6. इसमें मौजूद विटामिन B6 भ्रूण के मस्तिष्क व तंत्रिका तंत्र के विकास के लिए उपयुक्त माना जाता है.
  7. आम का खट्टा-मीठा स्वाद गर्भवती महिला को मॉर्निंग सिकनेस में राहत देता है और उनमें मतली की संभावना भी काफ़ी कम हो जाती है.
  8. आम में विटामिन C होता है जो कि एंटी ओक्सिडेंट से भरपूर होता है, जिसके कारण गर्भवती महिला को समय से पूर्व प्रसव नहीं होता है और यह महिला की इम्युनिटी को भी मजबूत बनाता है.
  9. आप आम का जूस या शेक बनाकर भी ले सकती हैं. आम को लिक्विड फॉर्म में लेने से  आपके शरीर में तरल पदार्थ की कमी नहीं होगी और साथ ही आपको फल के सारे पोषक तत्व भी मिलेंगे.

प्रेगनेंसी में अधिक आम खाने के नुक्सान

  1. आम में शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है, अतः जिन महिलाओं को डायबिटीज़ की शिकायत है उन्हें प्रेगनेंसी के दौरान आम खाने से परहेज करना चाहिए.
  2. गर्भवती महिला को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि आम का सेवन अत्यधिक मात्रा में ना करें. आम की तासीर गर्म होती है अतः इसके अत्यधिक सेवन से महिला का मिसकैरेज होने की भी संभावना रहती है.
  3. यदि आपको पहले से ही आम खाने से एलर्जी की समस्या होती रही है तो ऐसे में आपको आम खाने से बचना चाहिए. क्योंकि ऐसे में यदि आप आम का सेवन करती हैं तो आम खाने के बाद आपको खुजली, उल्टी, डायरिया या स्किन में छोटे-छोटे दाने निकलने जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है.
  4. अधिक आम खाने से गर्भवती महिला को सिर दर्द, सुस्ती, हाथ-पैरों में झनझनाहट की शिकायत हो सकती है.
  5. ज्यादा आम खा लेने से आपके पेट में गड़बड़, मुहं में छाले और बार-बार मूड में परिवर्तन हो सकता है.
  6. आम में अधिक कार्बोहाईड्रेट होता है अतः इसके अधिक सेवन से गर्भवती महिला के वजन में अधिक वृद्धि हो सकती है.  

आम खाने से पहले रखी जाने वाली सावधानियां

आम खाने से पहले यदि गर्भवती महिला नीचे दी गई कुछ सावधानियों को ध्यान में रखें तो आम से उन्हें कोई भी नुक्सान नहीं होगा.

  1. गर्भवती महिला को प्राकृतिक रूप से पके हुए आम का ही सेवन करना चाहिए.
  2. आजकल बाजार में आम को जल्दी पकाने के लिए रासायनिक दवाओं का प्रयोग किया जाता है. जो कि गर्भवती महिला व उसके शिशु के लिए नुकसानदायक हो सकता है. अतः गर्भावस्था के दौरान कृत्रिम रूप से पकाए गए आम का सेवन बिल्कुल भी ना करें.
  3. यदि डॉक्टर ने आपको आम ना खाने की सलाह दी है तो आपको आम का सेवन नहीं करना चाहिए.
  4. जिन आमों पर सफ़ेद कोटिंग या सफ़ेद धब्बे से दिखाई दे और लहसुन जैसी गंध आये, ऐसे आमों का सेवन करने से आपको बचना चाहिए, क्योंकि ये आम कैल्शियम कार्बाइड नामक रसायन द्वारा पकाये जाते हैं.
  5. आम के सीजन में ही आम खरीदने चाहिए, बेमौसमी फलों को खाने से हमेंशा बचना चाहिए.
  6. फलों को अच्छी तरह से धोकर ही खाएं और खाने से पहले उन्हें छील लें.
  7. आम का सेवन सीमित मात्रा में ही करें वरना आप डायरिया की शिकार हो सकती हैं और इस वजह से आपको डीहाईड्रेशन हो सकता है.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here