चाय पीने के फायदे – Benefits of Tea

187
चाय पीने के फायदे – Benefits of Tea

आप रोज पारंपरिक चाय तो पीते ही होंगे जो दूध से बनाई जाती है लेकिन, आज हम आपको अलग-अलग प्रकार की चाय के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें पीने से आपको अलग-अलग स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं. तो आइए जानते हैं चाय कितने प्रकार की होती हैं और चाय पीने के फायदे क्या-क्या हैं.

आप सभी अपने दिन की शुरुआत एक कप चाय के साथ तो करते ही होंगे और कुछ लोग तो ऐसे होंगे जो दिन में न जाने कितनी बार चाय की चुस्कियां लेते होंगे. चाय एक बहुत ही लोकप्रिय पेय पदार्थ है जो बहुत से लोगों को बहुत पसंद आती है. यह हमारी संस्कृति का एक अंग है, जब भी हमारे घर पर कोई मेहमान आए तो हम उनका स्वागत एक कप चाय के साथ जरूर करते हैं, यह हमारी सभ्यता को दर्शाता है.

चाय का उत्पादन सबसे ज्यादा चीन और भारत में होता है लेकिन, धीरे-धीरे यह चाय पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो गई है. चाय का एक पौधा होता है जिसकी पत्तियों को पानी में उबालकर पिया जाता है.

विषय - सूची

चाय पीने के फायदे क्या हैं?

कुछ लोगों का ये मानना है कि चाय सेहत के लिए अच्छी नहीं होती. लेकिन आज हम आपको बता दें कि चाय पीने में कोई बुराई नहीं है बशर्ते कि इसे संतुलित मात्रा में और सही तरीके से बनाकर  पिया जाय. चाय आपकी थकान को दूर करके आपको ऊर्जा और ताज़गी से भर देने वाली टॉनिक का काम करती है बशर्ते कि आप इसका सेवन नियमित मात्रा में ही करें.

  1. यदि चाय सीमित मात्रा में पी जाए तो चाय पीने से आपका पाचन सही रहता है.
  2. चाय में मौजूद कैफ़ीन शरीर में ताजगी और स्फूर्ति का एहसास दिलाता है.
  3. चाय पीने से हड्डियों व जोड़ों का दर्द कम होता है.
  4. चाय में मौजूद कैफीन नर्वस सिस्टम को उत्तेजित करता है जिससे आलस्य और थकान दूर होती है.
  5. अचानक से लो ब्लड प्रेशर होने पर यदि मरीज को तुरंत चाय पिलाई जाय तो इससे ब्लड प्रेशर नॉर्मल होने में मदद मिलती है.
  6. सर्दी, जुखाम होने पर मसाले वाली चाय का सेवन करने से आराम मिलता है.
  7. चाय पीने के बाद आपकी कार्यक्षमता में बढ़ोत्तरी होती है.

लेमन टी

Lemon Ginger Tea

लेमन टी को आप घर पर बड़ी आसानी से बना सकते हैं. लेमन टी उन लोगों के लिए  बहुत फायदेमंद है जो मोटापे से परेशान हैं और अपना वजन कम करना चाहते हैं. रोज सुबह-सुबह लेमन टी का सेवन करने से पेट की चर्बी काफ़ी कम हो जाती है. लेमन टी नींबू और लेमन ग्रास से बनाई जाने वाली एनर्जेटिक और रिफ्रेशिंग चाय है. नींबू आपके शरीर से गंदगी साफ़ करता है और लेमन ग्रास पाचन सुधारने में मदद करती है. लेमन टी ह्रदय की कई सारी बीमारियों को ठीक करने में लाभदायक है. भोजन करने के बाद लेमन टी पीने से भोजन जल्दी पचता है और बहुत देर तक भूख भी नहीं लगती. लेमन टी में आप शहद व दालचीनी डालकर भी पी सकते हैं, यह सभी तत्व वजन कम करने में मदद करते हैं.

ब्लैक टी

 Black Tea

ब्लैक टी यानि बिना दूध और बिना शक्कर की चाय. दूध वाली चाय में कैलोरी बहुत अधिक होती है जो आपका वजन बढ़ा सकती है. लेकिन वजन कम करने के लिए आपके लिए ब्लैक टी पीना फायदेमंद है. ब्लैक टी में ऐसे एंटीऑक्सिडेंट गुण मौजूद होते हैं जो आपकी बॉडी से एक्स्ट्रा फैट को कम तो करते ही हैं साथ ही ह्रदय और रक्त वाहिकाओं को भी स्वस्थ रखने में मदद करते हैं.

मसाला चाय

Masala Chai | Masala Tea - Spiced Tea

मसाला चाय कई प्रकार के मसालों का इस्तेमाल करके बनाई जाती है इसलिए इसे मसाला चाय कहते हैं. यह पारंपरिक तरीके से बनने वाली चाय से थोड़ी अलग एक सुगंधित पेय पदार्थ है जिसमें बहुत सारे मसालों की खुशबू और औषधीय गुण शामिल होते हैं. मसाला चाय बनाने के लिए इसमें छोटी इलायची, बड़ी इलायची, दालचीनी, सौंफ़, लौंग, काली मिर्च, तुलसी, मुलेठी, अदरक या सोंठ, जायफल तथा चक्र फूल आदि मसालों का प्रयोग किया जाता है.

मसाला चाय खासकर महिलाओं के लिए फायदेमंद होती है क्योंकि इसमें प्रयोग होने वाली दालचीनी पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत देती है.

हर्बल ग्रीन टी

हर्बल ग्रीन टी भी बिना दूध के बनने वाली चाय है. ग्रीन टी आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाकार आपको हेल्दी और फिट रखती है. ग्रीन टी का सेवन आपके शरीर से फैट को बहुत जल्दी बर्न करता है और इससे डाइजेशन भी सही रहता है. ग्रीन टी आपके बालों में भी चमक लाती है.                

अदरक वाली चाय

अदरक पुराने ज़माने से ही औषधि के रूप में उपयोग में आता रहा है. अदरक वाली चाय का सेवन करने से सर्दियों में होने वाली बीमारियों से बचा जा सकता है. तासीर में गर्म होने के कारण अदरक आपके शरीर को गर्माहट पहुंचाती है और आलस्य को भी दूर भागाती है.

उम्मीद करते हैं आपको ये लेख पसंद आया होगा और लेख में बताए गए चाय पीने के फायदे आपको समझ में आ गए होंगे. चाय बनाते समय चाय की मात्रा और चाय बनाने के तरीकों का ध्यान जरूर रखें.