हार्ट अटैक से बचाव के घरेलू उपाय

216
हार्ट अटैक के घरेलू उपाय

आयुर्वेद दिल की बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है. आज हम जानेंगे हार्ट अटैक से बचाव के घरेलू उपाय के बारे में.

अधिकतर दिल की बीमारियां एसिडिटी के कारण होती हैं. जब पेट में एसिडिटी अधिक हो जाती है तो एसिड खून में मिल जाता है और फिर एसिड से भरा हुआ रक्त, रक्त वाहिनियों में आगे नहीं बह पाता है जिससे ब्लॉकेज की समस्या उत्पन्न होती है.

आयुर्वेद में आज भी ऐसे उपाय मौजूद हैं जिनसे एंजियोप्लास्टी किए बिना ही हार्ट अटैक की संभावना को 80% तक टाला जा सकता है. उनमें से एक उपाय है अपने खानपान में ऐसी चीज़ों को शामिल करना जो आपके हृदय के लिए पौष्टिक होने के साथ-साथ सुरक्षित भी हों.

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए क्या खाएं?

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए क्या खाएं?
  1. लौंकी- हार्ट अटैक के इलाज में ब्लड को पतला करने के लिए क्षारीय वस्तुएं खाने की सलाह दी जाती है. क्योंकि इससे आपके ब्लड में मौज़ूद अम्लता घटती है और ब्लॉकेज खुल जाता है.अतः, लौंकी की सब्जी व लौंकी का जूस बहुत फायदेमंद होता है जो रक्त की अम्लता को कम करता है. यदि लौंकी के जूस में तुलसी की पत्तियां मिलाकर पिया जाए तो यह दुगुना फायदा करता है क्योंकि तुलसी की पत्तियों में भी क्षारीय गुण होते हैं.
  2. अर्जुन की छाल- अर्जुन की छाल दिल को मजबूत करने में बहुत मदद करती है. इसकी छाल में मौजूद नेचुरल ऑक्सीडाईजिंग तत्व हार्ट ब्लॉकेज को खोलने में सहायक हैं.
  3. दालचीनी- दालचीनी के नियमित उपयोग से सांसों की तकलीफ़ दूर होती है और दिल की बीमारियां कम होती हैं. यह बैड कॉलेस्ट्रॉल को कम करके हार्ट को मजबूती प्रदान करती है.
  4. अलसी- अलसी में फाइबर बहुत अधिक मात्रा में होता है. एक चम्मच अलसी के बीज को रोज़ाना पानी के साथ लेने से यह बंद धमनियों को खोल देता है और दिल के स्वास्थ्य में सुधार करता है.
  5. मछली का सेवन- मछली दिमाग और आंखों के साथ-साथ दिल के लिए भी बहुत अच्छी मानी जाती है. इसके सेवन से कई सारी हार्ट प्रॉब्लम्स दूर होती हैं. लेकिन सही मछली का चुनाव करना बहुत ज़रूरी है. साल्मन, टूना, ट्राउट जैसी मछलियों में सबसे ज्यादा ओमेगा-3 पाया जाता है जो कि हार्ट के लिए बहुत फायदेमंद होती है.
  6. लहसुन- लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं. भोजन में लहसुन का प्रयोग करने से हार्ट की समस्याएं दूर होती हैं क्योंकि यह खून को पतला करने का काम करता है और धमनियों में खून का थक्का नहीं बनने देता. रोज सुबह-सुबह खाली पेट लहसुन की दो कलियां चबाने से हार्ट के मरीज को फायदा पहुंचता है.
  7. हल्दी- हल्दी में बहुत सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो हार्ट की मांसपेशियों को मजबूत बनाए रखती है. यह कॉलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम करती है. अपने भोजन में रोज़ाना हल्दी पाउडर का इस्तेमाल कीजिए और गुनगुने दूध में हल्दी डालकर पीजिए.
  8. नट्स- नट्स जैसे- बादाम, अखरोट, पिस्ता आदि आपके दिल के लिए फायदेमंद होते हैं. इनमें ऐसे फैटी एसिड मौजूद होते हैं जो बैड कॉलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं और आपके दिल को स्ट्रोक या अटैक से बचाए रखने में मदद करते हैं.
  9. ग्रीन टी- ग्रीन टी आपके दिल के लिए फायदेमंद है. इसलिए रोज़ दिन में दो बार इसका सेवन ज़रूर कीजिए.
  10. फल और सब्जियां- फल और सब्जियां आपके हृदय को स्वस्थ रखने के लिए बहुत आवश्यक हैं. दिल को बीमार होने से बचाने के लिए फलों में आपको अनार, नाशपाती, संतरा, सेब, चेरी, काले अंगूर और पपीता आदि का सेवन करना चाहिए और सब्जियों में आपको लौंकी, तोरई, कद्दू, ब्रोकली, पत्तागोभी, शकरकंद, पालक, गाजर और टमाटर आदि सब्जियों का सेवन करना चाहिए. ये सभी फल और सब्जियां हृदय रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं.

हार्ट की बीमारी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं – FAQ

  1. क्या हार्ट अटैक में फ़िश खा सकते हैं?

    जी हां. हार्ट के रोगियों के लिए फ़िश का सेवन करना फायदेमंद होता है. लेकिन आपको हर तरह की समुद्री मछली का सेवन करने से बचना चाहिए. साल्मन, ट्राउट और टूना मछली हार्ट के रोगियों के लिए अच्छी मानी जाती है.

  2. क्या अर्जुन की छाल को दूध के साथ लिया जा सकता है?

    अर्जुन की छाल का पाउडर बनाकर इसे दूध के साथ पीने से हृदय मजबूत होता है.

  3. क्या नींद पूरी न होने का असर हृदय पर भी पड़ता है?

    जी हां, यदि आप पूरी नींद यानि 7 से 8 घंटे की नींद नहीं लेते हैं तो इसका आपके हृदय पर भी नकारात्मक असर पड़ता है. आपको हार्ट से संबंधित कई सारी बीमारियां घेर लेती हैं.

  4. क्या हार्ट के मरीज नॉनवेज खा सकते हैं?

    हार्ट के मरीज को रेड मीट का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि, इसमें ढेर सारा सैचुरेटेड फैट और हाई कॉलेस्ट्रॉल के तत्व मौजूद होते हैं. जो कि आपके हृदय के लिए नुक्सानदायक है. इसके अलावा आपको अंडे का पीला भाग भी नहीं खाना चाहिए. ये आपके दिल के लिए अच्छा नहीं है.

  5. दिल के मरीज को किससे परहेज़ करना ज़रूरी है?

    दिल के मरीज को अधिक मात्रा में नमक और चीनी से परहेज़ करना चाहिए. अधिक मात्रा में सोडियम और चीनी का इस्तेमाल करने से आपका बी.पी बढ़ता है और ये आपके दिल के लिए नुक्सानदायक भी है.