कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज – 11 चीजें जो घटाती हैं कोलेस्ट्रॉल

1155
कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज – 10 चीजें जो घटाती हैं कोलेस्ट्रॉल
Education vector created by brgfx - www.freepik.com

कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज क्या है? आप अपने खानपान को बेहतर बनाकर तथा लाइफस्टाइल को सुधारकर अपने बढ़े हुये कोलेस्ट्रॉल को काफी हद तक नियंत्रित कर सकते हैं. इसके लिये जरूरी है कि आप जो भी खाएं वो सीमित व संतुलित मात्रा में ही खाएं. यदि आपको किसी चीज को खाने से एलर्जी है तो उसे खाने से बचें.

कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय

सही खानपान – कोलेस्ट्रॉल कम करें

सही खानपान में आपको ये पता होना चाहिए कि आपको क्या खाना चाहिए और क्या नहीं. कोई भी चीज आवश्यकता से अधिक करने या खाने पर आपको नुकसान भी हो सकता है अतः जो भी करें अपने शरीर की जरूरत के हिसाब से करें, चाहे वो खानपान हो या फिर किसी भी तरह का कोई वर्कआउट और यही कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय भी है | और यदि आपको कोई संशय हो तो अपने डॉक्टर से उचित परामर्श जरूर लीजिए.

Also Read:

ऑलिव ऑयल – कोलेस्ट्रॉल स्तर को बैलेंस करे

गलत तेल के इस्तेमाल से शरीर में कोलेस्ट्रॉल सबसे ज्यादा बढ़ता है | इसलिये अपने खान-पान में ऑलिव ऑयल यानि की जैतून के तेल का इस्तेमाल करें | यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बैलेंस रखता है, साथ ही धमनियों की दीवारों को मजबूत बनाता है, जिससे ह्रदय संबंधी बीमारियाँ होने का खतरा काफ़ी कम रहता है और पेट की वसा भी कम होती है.

ड्राई फ्रूट्स – गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में सहायक

ड्राई फ्रूट्स जैसे- बादाम, अखरोट, पिस्ता में ओमेगा 3 फैटी ऐसिड, फाइबर तथा विटामिन्स पाये जाते हैं जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करके गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में सहायक होते हैं | इन मेवों को तेल में भूनकर खाने की बजाय पानी में भिगोकर खाएं तो यह बहुत ही फायदेमंद होते हैं. मगर इसे रोजाना सीमित मात्रा में ही खाएं. बादाम व अखरोट को पानी में भिगोने से इनमें मौजूद फैट की मात्रा कम हो जाती है और विटामिन E की मात्रा बढ़ जाती है.

लहसुन – बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करे

लहसुन में मौजूद एन्जाइम्स बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में काफ़ी मदत करते हैं | लहसुन के सेवन से उच्च रक्तचाप को भी नियंत्रित किया जा सकता है | अतः अपने भोजन में रोज लहसुन का उपयोग जरूर करें | यह खून को पतला करता है | रोज सुबह लहसुन की दो कच्ची कलियाँ छीलकर खाने से कोलेस्ट्रॉल 15 % तक कम हो जाता है.

साबुत अनाज – अधिक फाइबर

साबुत अनाज में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदत करता है | इसलिए अपने आहार में साबुत अनाज जैसे – ओट्स, दलिया, जौ, बाजरा, मल्टी ग्रेन आटा व ब्राउन राइस का उपयोग कीजिए, इससे आपका कोलेस्ट्रॉल काफ़ी कम होगा.

नींबू – फैट घटाये

खट्टे फलों में कुछ ऐसे एन्जाइम्स मौजूद होते हैं जो मेटाबोलिज्म की प्रक्रिया को तेज करते हैं और कोलेस्ट्रॉल को घटाते हैं | इनमें नींबू सबसे कारगर होता है, इसमें मौजूद विटामिन C रक्त नलियों को साफ़ करता है | अतः रोज सुबह उठकर खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू का रस मिला कर इसका सेवन करें, इसके अतिरिक्त संतरे का जूस भी बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करता है. 

अलसी के बीज – काफी मदतगार

आयुर्वेद के अनुसार अलसी हमारे शरीर के काफ़ी सारे रोगों को ठीक करने में मदतगार साबित होती है. अलसी के बीज को पीसकर इसका पाउडर बनाएं. दिन में दो या तीन बार इसका सेवन करने से हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है.

धनिया के बीज

धनिया के बीज कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते हैं | इसका पाउडर बनाकर इसे गुनगुने पानी में उबालकर दिन में दो बार पियें.

सोयाबीन व दालें – कोलेस्ट्रॉल को दूर भगाएं

दालें हमारे स्वास्थ्य के लिये बहुत लाभदायक तथा प्रोटीन का बहुत ही अच्छा स्रोत होती हैं | इसलिए कहा जाता है, सोयाबीन खाएं और कोलेस्ट्रॉल को दूर भगाएं. अतः अपने भोजन में नियमित रूप से सोयाबीन व अन्य प्रोटीन युक्त दालों का सेवन जरूर कीजिए.

अर्जुन की छाल – बहुत कारगर इलाज

अर्जुन की छाल दिल से जुड़ी बीमारियों के इलाज में बहुत कारगर सिद्ध होती है | अर्जुन की छाल के सेवन से ब्लॉक धमनियां खुल जाती हैं और बैड कोलेस्ट्रॉल भी घटने लगता है | अतः कमजोर दिल वाले लोग या जो बहुत जल्दी नर्वस हो जाते हैं या फिर जिन्हें घबराहट अधिक होती है, उन्हें भी इसका सेवन करना चाहिए.

अर्जुन की छाल का पाउडर बनाकर इसे दो गिलास पानी में तब तक उबालिये जब तक कि ये आधा ना रह जाये | इसे ठंडा करें और छानकर रोजाना सुबह-शाम पियें. ये कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज है.

मछली – ओमेगा 3 का अच्छा स्रोत

मछली ओमेगा 3 फैटी ऐसिड का बहुत ही अच्छा स्रोत है जो हमारे शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक है. अतः आप हफ़्ते में दो बार स्टीम्ड या ग्रिल्ड मछली का सेवन कर सकते हैं. तली हुई मछली का सेवन करने से बचें.

इनके अलावा, आप अपने भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियां, बीन्स, मटर, टमाटर, ग्रीन टी, मेथी, प्याज, हल्दी व फलों में एवोकाडो, सेब, केला, नाशपाती व संतरे आदि को भी जरूर शामिल कीजिए, इनमें उपस्थित पोषक तत्व शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते हैं.