प्रसव के बाद पेट पर निशान – Pregnancy Stretch Marks

505
प्रसव के बाद पेट पर निशान – Pregnancy Stretch Marks

प्रसव के बाद पेट पर निशान पड़ना सामान्य बात है. प्रेगनेंसी के बाद त्वचा पर विकसित होने वाली लंबी और संकीर्ण लकीर या धारियों के निशान पड़ जाते हैं. ये धारियां ही स्ट्रेच मार्क्स कहलाती हैं.

प्रेगनेंसी के बाद अक्सर अधिकतर महिलाओं के स्ट्रेच मार्क्स पड़ ही जाते हैं. ये स्ट्रेच मार्क्स शरीर के किसी भी हिस्से पर हो सकते हैं. जैसे- बाजुओं पर, स्तनों पर, लेकिन सबसे ज्यादा स्ट्रेच मार्क्स पेट के निचले हिस्से, कूल्हे और जांघों पर दिखाई देते हैं.

ये स्ट्रेच मार्क्स हार्मोनल चेंजेस और अचानक से वजन में होने वाले परिवर्तन की वजह से पड़ते हैं. महिलाएं इन स्ट्रेच मार्क्स को कम करने की कोशिश में लगी रहती हैं. आज इस पोस्ट में हम प्रसव के बाद पेट पर निशान को कम करने के कुछ उपाय बताएंगे.

विषय - सूची

स्ट्रेच मार्क्स होने के कारण क्या हैं? 4 Reasons of Stretch Marks

अचानक से वजन में बढ़ोतरी या कमी आना

अचानक से शरीर की अवस्था में परिवर्तन होने के कारण स्ट्रेच मार्क्स होने लगते हैं. प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिला का वजन बढ़ता है और शरीर फूलने लगता है. महिला का शरीर गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए अपने आप ही जगह बनाता है और इस कारण त्वचा में लगातार होने वाले खिंचाव और फैलाव की वजह से गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स बनने लगते हैं.

ठीक इसी तरह डिलीवरी होने के बाद जब महिला का वजन पहले की अपेक्षा कुछ कम हो जाता है तो वजन घटने से पेट की नसों में खिंचाव आने लगता है और वहां पर प्रसव के बाद पेट पर निशान यानि स्ट्रेच मार्क्स पड़ जाते हैं.

हार्मोनल बदलाव होना

प्रेगनेंसी के दौरान महिला के शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण भी शरीर के अलग-अलग हिस्सों में स्ट्रेच मार्क्स पड़ने लगते हैं.

आनुवांशिक कारण

एक रिसर्च के अनुसार, यदि आपकी मां को भी उनकी प्रेगनेंसी के समय ये स्ट्रेच मार्क्स आये थे तो आपको भी स्ट्रेच मार्क्स आने की संभावना रहती है.

भोजन में पोषक तत्वों की कमी होना

यदि आपके भोजन में पोषक तत्वों की कमी है तो ये भी एक कारण हो सकता है आपके शरीर में स्ट्रेच मार्क्स आने का. क्योंकि आपके भोजन में पोषक तत्वों की कमी होने से आपके शरीर की कोशिकाओं के बनने और बढ़ने पर प्रभाव पड़ता है, जिससे खिंचाव बढ़ता है और शरीर की बाहरी त्वचा पर निशान या स्ट्रेच मार्क्स होने लगते हैं.

ये भी पढ़ें:

प्रसव के बाद पेट पर निशान यानि स्ट्रेच मार्क्स कब से दिखाई देने लगते हैं?

स्ट्रेच मार्क्स दिखने के सही समय का अंदाज़ा लगा पाना थोड़ा मुश्किल है क्योंकि, हर एक महिला का शरीर अलग होता है और हर महिला की प्रेगनेंसी का अनुभव भी अलग-अलग होता है.

प्रेगनेंसी के किसी भी तिमाही में स्ट्रेच मार्क्स पड़ने शुरू हो सकते हैं. प्रेगनेंसी में हार्मोनल बदलाव होने के कारण शुरुआत में ही महिला की ब्रेस्ट का साइज़ बढ़ने लगता है जिस वजह से स्तनों में स्ट्रेच मार्क्स शुरू में ही दिखाई देने लगते हैं.

जब आपका यूट्रस यानि गर्भाशय विकसित होने लगता है तब आपका पेट भी बढ़ने लगता है और इस कारण पेट पर निशान दिखने शुरू हो जाते हैं.

पेट के निशान मिटाने के उपाय

यदि प्रेगनेंसी के दौरान या प्रसव के बाद पेट पर निशान पड़ गए हैं तो यहां हमने पेट के निशान मिटाने के उपाय बताए हैं जिन्हें अपनाकर आप इन स्ट्रेच मार्क्स को काफ़ी हद तक कम कर सकते हो. लेकिन, स्ट्रेच मार्क्स के निशान मिटाने वाली क्रीम का प्रयोग या कोई भी उपाय तभी करें जब आपके पेट के टांकें पूरी तरह से हट जाएं.

तेल की मालिश करें

प्रसव के बाद पेट पर निशान या स्ट्रेच मार्क्स कम करने के लिए तेल मालिश करना सबसे कारगर उपाय है. तेल मालिश करने के लिए आप जैतून का तेल, नारियल का तेल, विटामिन-ई का तेल, बायो-ऑयल या एलोवेरा तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं.

व्यायाम करें

प्रसव के बाद पेट पर निशान या स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए आप डिलीवरी होने के 30 से 40 दिन बाद से व्यायाम करना शुरू कर सकती हैं. इससे आपकी त्वचा में नए टिश्यू का निर्माण होता है और स्ट्रेच मार्क्स धीरे–धीरे कम होने लगते हैं. स्ट्रेचिंग वाले व्यायाम करने से ढीली पड़ चुकी त्वचा में कसाव आता है और स्ट्रेच मार्क्स से राहत मिलती है.

घरेलू क्रीम या लोशन लगाएं

स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के लिए घरेलू क्रीम या लोशन का इस्तेमाल किया जा सकता है. ये त्वचा को नमी प्रदान करते हैं और तवचा को टाइट रखते हैं. आधा कप जैतून का तेल, आधा कप एलोवेरा जेल और विटामिन-ई के 6 कैप्सूल, इन सभी को अच्छी तरह से मिलाकर फ्रिज में रख लें और रोज़ाना स्ट्रेच मार्क्स वाली जगह पर इस लोशन को लगाएं.

हाइड्रेट रहें

प्रेगनेंसी के दौरान और डिलीवरी के बाद भी खुद को हाइड्रेट रखना बहुत ही ज़रूरी है. शरीर की आधी बीमारियां तो पानी पीने से ही नष्ट हो जाती हैं. प्रसव के बाद पेट पर निशान (स्ट्रेच मार्क्स) कम करने के लिए आपको रोज़ाना दिन में 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिए. पानी पीने से रक्तसंचार सही से होता है और ये कोशिकाओं में होने वाले खिंचाब को रोकता है, जिससे बहुत जल्द आपके स्ट्रेच मार्क्स साफ़ होने लगते हैं.

हल्दी चंदन का पेस्ट लगाएं

हल्दी व चंदन में त्वचा को चमकदार बनाने और त्वचा से किसी भी तरह के दाग मिटाने का गुण मौजूद होता है. गर्भावस्था के स्ट्रेच मार्क्स पर हल्दी चंदन का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है.

नेचुरल स्ट्रेच मार्क्स रिमूवल क्रीम का प्रयोग करें

आजकल बाज़ार में भी कई तरह की स्ट्रेच मार्क्स रिमूवल क्रीम आसानी से मिल जाती हैं. स्ट्रेच मार्क्स से निजात पाने के लिए स्ट्रेच मार्क्स क्रीम या ऑयल का इस्तेमाल किया जा सकता है. स्ट्रेच मार्क्स हटाने वाली क्रीम खरीदते समय अपनी त्वचा के अनुसार ही प्रोडक्ट ख़रीदें और हमेंशा डर्मेटोलोजिस्ट द्वारा टेस्टेड प्रोडक्ट का ही चयन करें. जब आपके टांके पूरी तरह से हट जाएं तभी स्ट्रेच मार्क्स रिमूवल क्रीम का इस्तेमाल करें.

यदि आप स्ट्रेच मार्क्स हटाने की क्रीम का नियमित व सही रूप से इस्तेमाल करें तभी इसका फायदा मिलता है. यदि फिर भी आपके मन में इसे लेकर कोई दुविधा है, तो त्वचा विशेषज्ञ से उचित परामर्श ज़रूर लें.

स्ट्रेच मार्क्स से संबंधित सवाल-जवाब

  1. स्ट्रेच मार्क्स हटाने की क्रीम कौन सी है?

    स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए ट्रेटिनोइन क्रीम, ग्लाइकोलीक एसिड क्रीम, मामाअर्थ रिच बॉडी क्रीम, हिमालया फॉर मॉम स्ट्रेच मार्क क्रीम का इस्तेमाल किया जा सकता है.

  2. क्या स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के लिए कैमिकल युक्त क्रीम का प्रयोग करना सही है?

    कम समय में प्रेगनेंसी स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के लिए आजकल बाज़ार में कई तरह की क्रीम या ट्यूब उपलब्ध हैं लेकिन, यदि आप बच्चे को स्तनपान कराती हैं तो इस क्रीम का कैमिकल बच्चे के दूध में जा सकता है जो कि बच्चे के लिए नुक्सानदायक है. अतः स्तन के आस-पास ये कैमिकल युक्त क्रीम न लगाएं. कोई भी क्रीम लगाने से पहले त्वचा विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर लें.

  3. क्या लेज़र थेरेपी से स्ट्रेच मार्क्स हटाए जा सकते हैं?

    जी हां, जो लोग लेज़र थेरेपी का खर्चा उठा सकते हैं उनके लिए स्ट्रेच मार्क्स हटाने का ये उपाय बहुत कारगर है. यह काफ़ी महंगा उपचार है लेकिन इसके माध्यम से नए या पुराने सभी तरह के स्ट्रेच मार्क्स को दूर करना संभव है.

  4. प्रेगनेंसी स्ट्रेच मार्क्स आयल कौन से हैं?

    प्रेगनेंसी के स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए जैतून का तेल, नारियल का तेल, विटामिन-ई का तेल, बायो-ऑयल या एलोवेरा तेल लगाना फायदेमंद होता है.

  5. स्ट्रेच मार्क्स कब आते हैं?

    प्रेगनेंसी के पांचवे या छठे महीने के बाद से महिला के शरीर पर स्ट्रेच मार्क्स आने लगते हैं. लेकिन हर महिला के शरीर के अनुसार इनके आने का कोई नियत समय नहीं होता है, ये स्ट्रेच मार्क्स प्रेगनेंसी की किसी भी स्टेज पर आ सकते हैं.

  6. स्ट्रेच मार्क्स क्यों आते हैं?

    प्रेगनेंसी के दौरान जब महिला का गर्भाशय बढ़ने लगता है और पेट फूलने लगता है तब महिला के शरीर की कोशिकाओं में खिंचाव होने लगता है और इस वजह से स्ट्रेच मार्क्स दिखाई देने लगते हैं.

  7. क्या स्ट्रेच मार्क्स बच्चे के जन्म के बाद हल्के हो जाते हैं?

    जी हां, स्ट्रेच मार्क्स बस ऐसे निशान होते हैं जो त्वचा पर खिंचाव के कारण शरीर में उत्पन्न होते हैं और बच्चे के जन्म के कुछ समय बाद स्ट्रेच मार्क्स मिटने लग जाते हैं.