यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय – 9 Home Remedy For Uric Acid

719
यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय

आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का उपाय क्या है? गलत खानपान एवं गलत दिनचर्या से आपके शरीर में यूरिक एसिड बढ़ सकता है.

वैसे तो यूरिक एसिड का अधिकतर हिस्सा हमारी किडनी के माध्यम से फ़िल्टर होकर यूरिन के द्वारा शरीर से बाहर निकल जाता है लेकिन, यदि शरीर में यूरिक एसिड अधिक मात्रा में बन रहा है और किडनी उसे फ़िल्टर नहीं कर पा रही है तो खून में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ जाता है.

कुछ समय बाद यह यूरिक एसिड छोटे-छोटे क्रिस्टल के रूप में हड्डियों में एकत्र होने लगता है और अधिक यूरिक एसिड बनने पर आपको गाउट या आर्थोराइटिस की समस्या उत्पन्न होने लगती है.

जब भी आपके जोड़ों में यूरिक एसिड का दर्द हो तो उस जगह पर कभी भी गर्म पानी से सिकाई न करें बल्कि वहां पर बर्फ़ की सिकाई करनी चाहिए.

कुछ घरेलू उपाय अपनाकर आप स्वयं अपने यूरिक एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं. तो आइए जानते हैं कि यूरिक एसिड को जड़ से ख़त्म करने के लिए आपको क्या करना चाहिए.

ये भी ज़रूर पढ़ें:

विषय - सूची

यूरिक एसिड को जड़ से खत्म करने का घरेलू इलाज

विटामिन-C का सेवन करें

यूरिक एसिड को कम करने के लिए विटामिन-C से भरपूर फलों जैसे- नींबू, संतरा, मौसमी, पपीता, चेरी, स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी आदि का सेवन करना फायदेमंद रहता है. इसके साथ ही हाई फाइबर युक्त भोजन जैसे- ब्राउन राइस, ओट्स, अखरोट और बादाम आदि खाने से भी बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम किया जा सकता है.

एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर यानि सेब का सिरका पानी के साथ मिलाकर पीना बहुत फायदेमंद होता है. इससे सेवन से बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम करने में मदद मिलती है.

एप्पल साइडर विनेगर, नींबू का रस और हल्दी इन तीनों का मिश्रण मिलकर यूरिक एसिड और गाउट को कम करने के लिए बहुत ही असरदार औषधि का काम करता है.

हाई प्रोटीनयुक्त आहार से बचें

जिन लोगों के यूरिक एसिड का स्तर बढ़ा हुआ है उन्हें अधिक प्रोटीनयुक्त खाद्य पदर्थों के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि इनमें प्यूरिन नामक तत्व की अधिकता होती है और प्यूरिन यूरिक एसिड को बढ़ाता है.

यूरिक एसिड में नींबू का सेवन करें

नींबू विटामिन-C से भरपूर होता है और यह एसिडिक प्रभाव को कम करता है जिससे आपके शरीर में यूरिक एसिड का स्तर कम हो जाता है. नींबू पानी यूरिक एसिड को कम करने की रामबाण दवा है. इसलिए रोज सुबह उठकर एक गिलास गुनगुने पानी में एक नींबू निचोड़कर इसका सेवन करना आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा.

पानी का इनटेक बढ़ाएं

शरीर से अतिरिक्त यूरिक एसिड को बाहर निकालने के लिए आपको रोज़ाना 10 से 12 गिलास पानी का सेवन करना बहुत ही ज़रूरी है. यदि आपको पानी कम पीने की आदत है तो अब आपको पानी का इनटेक बढ़ाना होगा. थोड़ी-थोड़ी देर में आपको पानी पीते रहना चाहिए.

यूरिक एसिड में व्यायाम और योगासन करें

बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए रोज़ व्यायाम करना बहुत ज़रूरी है क्योंकि व्यायाम करने से आपका मोटापा भी नही बढ़ेगा और यूरिक एसिड भी कंट्रोल में रहेगा. आपको रोज़ वृक्षासन, उष्ट्रासन और कपोतासन ये तीन योगासन भी करने चाहिए.

मानसिक तनाव से दूर रहें

तनाव लेना भी यूरिक एसिड बढ़ने का एक कारण हो सकता है इसलिए किसी भी प्रकार के मानसिक तनाव से दूर रहकर आप अपने यूरिक एसिड को बढ़ने से रोक सकते हैं.

जंक फ़ूड से दूर रहें

जंक फ़ूड खाने से आपको बचना चाहिए. ठंडे पेय पदार्थ और फ्रीज़ में रखे हुए खाद्य व् पेय पदार्थों के सेवन से भी बचें क्योंकि ठंडी चीज़ें आपको और भी ज्यादा हानि पहुंचा सकती हैं.

वजन और शुगर को नियंत्रित रखें

अधिक वजन बढ़ने या मोटापे से भी यूरिक एसिड बढ़ता है इसलिए अपने वजन को हमेंशा नियंत्रित रखें. अधिक मोटापे से आपका शुगर लेवल भी बढ़ता है इसलिए अपने शुगर को भी कंट्रोल में रखें.

यूरिक एसिड की होम्योपैथिक दवा

बढ़े हुए यूरिक एसिड को आयुर्वेदिक उपचार के द्वारा भी कम किया जा सकता है. इसके लिए आप डॉक्टर की सलाह से कुछ होम्योपैथिक दवाओं का सेवन कर सकते हैं.

नवकार्षिक चूर्ण (Navkarshik Churna) – यह यूरिक एसिड की होम्योपैथिक दवा है. यह दुर्लभ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से बना ऐसा प्रभावी चूर्ण है जो यूरिक स्तर के बढ़े हुए स्तर को कम करने में बहुत सहायक होता है.

इस चूर्ण के इस्तेमाल से कुछ ही दिनों में यूरिक एसिड का स्तर सामान्य हो जाता है.

दिव्य वतारी चूर्ण (Divya Vatari Churna) – यह भी एक आयुर्वेदिक दवा है जो यूरिक एसिड, गठिया और जोड़ों के दर्द के इलाज में फायदेमंद होती है. यह दवा आप किसी भी पतंजलि स्टोर से या ऑनलाइन भी ख़रीद सकते हैं.

यूरिक एसिड के घरेलू इलाज से सम्बंधित सवाल-जवाब

  1. यूरिक एसिड की होम्योपैथिक दवा क्या है?

    नवकार्षिक चूर्ण यूरिक एसिड की होम्योपैथिक दवा है. यह दुर्लभ आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से बना ऐसा प्रभावी चूर्ण है जो यूरिक स्तर के बढ़े हुए स्तर को कम करने में बहुत सहायक होता है.
    दिव्य वतारी चूर्ण भी यूरिक एसिड की होम्योपैथिक दवा है जो यूरिक एसिड, गठिया और जोड़ों के दर्द के इलाज में फायदेमंद होती है.

  2. यूरिक एसिड बढ़ने से क्या नुकसान होता है?

    यूरिक एसिड बढ़ने से गाउट, गठिया, आर्थोराइटिस और किडनी संबंधी बीमारी होने का ख़तरा रहता है. एक रिसर्च के अनुसार, शरीर में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ने से दिल के रोगों का भी ख़तरा बढ़ जाता है और हार्ट अटैक आने की भी संभावना रहती है.

  3. यूरिक एसिड मेडिसिन नाम

    Allopurinol, Febuxostat, Xanthine oxidase inhibitors, Uricosurics आदि कुछ एलोपैथिक दवा हैं जिनका सेवन यूरिक एसिड को कम करने के लिए किया जाता है.
    लेकिन कुछ लोगों को कुछ दवाओं के इस्तेमाल से कुछ साइडइफेक्ट्स भी हो सकते हैं इसलिए कोई भी दवाई लेने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करें.

  4. यूरिक एसिड कम करने के लिए क्या करें?

    यूरिक एसिड कम करने के लिए आपको हाई प्रोटीनयुक्त डाइट से परहेज करना चाहिए क्योंकि, इसमें मौजूद प्यूरीन तत्व की अधिकता आपका यूरिक एसिड बढ़ा सकती है.
    इसके अलावा आपको ख़ूब पानी पीना चाहिए और रोज़ व्यायाम भी करना चाहिए.

  5. यूरिक एसिड क्यों बढ़ता है?

    यूरिक एसिड बढ़ने के कई कारण हैं. जैसे- अधिक प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थ लेना, अधिक मोटापा बढ़ना, व्यायाम न करना, मांसाहार, शराब और कोल्डड्रिंक का अत्यधिक मात्रा में सेवन करना और किडनी में ख़राबी होना आदि.

  6. क्या यूरिक एसिड का दर्द और सूजन होने पर सिकाई करनी चाहिए?

    जी हां, यूरिक एसिड में जोड़ों में दर्द व सूजन होने पर बर्फ़ की सिकाई कर सकते हैं लेकिन गर्म पानी की सिकाई कभी न करें.

  7. क्या यूरिक एसिड में एक्सरसाइज़ कर सकते हैं?

    जी हां, यूरिक एसिड को कम करने के लिए हल्की-फ़ुल्की एक्सरसाइज़ कर सकते हैं लेकिन एकदम से भारी एक्सरसाइज़ न करें. डॉक्टर के परामर्श पर ही आपको एक्सरसाइज़ करनी चाहिए.
    यदि आपके जोड़ों में ज्यादा सूजन और दर्द है तो उस जगह पर ज्यादा वज़न न डालें और न ही उस हिस्से की हैवी एक्सरसाइज़ करें वरना आपकी सूजन व दर्द और भी अधिक बढ़ सकता है.