नॉर्मल डिलीवरी के उपाय – Useful Pregnancy Tips For Normal Delivery

1662
नॉर्मल डिलीवरी के उपाय

आज हम आपको नॉर्मल डिलीवरी के उपाय (Normal Delivery Tips) बताने जा रहे हैं जो कि किसी भी गर्भवती महिला की नॉर्मल डिलीवरी होने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं. हर महिला जो कि माँ बनने जा रही है ये चाहती है कि उन्हें अपने प्रसव के दौरान किसी भी कठिनाई का सामना न करना पड़े और प्रसव क्रिया बड़ी आसानी से और जल्दी से हो जाये.

अतः प्रत्येक महिला को जो कि मां बनने वाली हैं, उन्हें नीचे दी गई बातों का ध्यान रखना चाहिए और इन उपायों को ज़रूर follow करना चाहिए ताकि उन्हें नॉर्मल डिलीवरी होने में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न हो.

ये भी पढ़ें:

नॉर्मल डिलीवरी के लिए क्या करना चाहिए?

आइए अब जानते हैं कि वे कौन-कौन सी बातें हैं जिनका पालन नॉर्मल डिलीवरी होने के लिए आपको करना चाहिए.

गर्भावस्था में एक्टिव रहना है ज़रूरी

गर्भावस्था में हर महिला को शुरू से लेकर अंत तक एक्टिव रहना बहुत ही ज़रूरी है. इसलिए आप रोज़ाना थोड़ी-थोड़ी walk करें, योग करें, साँस अन्दर लेने वाले प्राणायाम करें जिससे आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में Oxygen मिलती रहे.

गर्भावस्था का मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि आप सारा दिन घर पर बैठकर सिर्फ आराम ही करती रहें बल्कि आपके लिए घर के कामकाज करने भी बहुत ज़रूरी हैं. सातवें महीने से गर्भवती महिला को रोज़ाना टहलना और पोछा लगाना शुरू कर देना चाहिए क्योंकि टहलने से नॉर्मल डिलीवरी आसान हो जाती है और पोछा लगाने से गर्भवती महिला के Pelvic Area पर दबाव पड़ता है जिससे नॉर्मल डिलीवरी होने में मदद मिलती है. लेकिन इस बात का ज़रूर ध्यान रखें कि पोछा आपको नीचे बैठकर ही लगाना है न कि खड़े होकर. प्रेगनेंसी में चलने के फायदे क्या है ज़रुर पढ़ें.

शरीर में पानी की कमी न होने दें

गर्भावस्था के दौरान महिला को अपने शरीर को हाइड्रेट रखना बहुत ही ज़रूरी है यानि कि उसके शरीर में पानी की कमी बिल्कुल भी नहीं होनी चाहिए. पानी की कमी हो जाने से पेट में कब्ज हो सकती है अतः इससे बचने के लिए रोज़ाना खूब पानी पियें, कम से कम आपको 7 से 8 गिलास पानी तो पीना ही चाहिए, इससे आपका पेट भी साफ़ रहेगा और डिलीवरी में दिक्कतें भी नहीं आएंगी. आपको अपनी डाइट में लिक्विड चीज़ों का सेवन ज्यादा करना चाहिए, जैसे कि: ताज़े फलों का जूस, नारियल पानी, नींबू पानी, लस्सी आदि.

देसी घी का सेवन करें

हमारे पुराने बुजुर्ग भी ये मानते रहे हैं कि देसी घी का सेवन नॉर्मल डिलीवरी के लिए बहुत फायदेमंद होता है. गर्भवती महिला को सातवें महीने से देसी घी का सेवन करना शुरू कर देना चाहिए. इसे आप रात को सोने से पहले आधा कप गुनगुने पानी में दो चम्मच डालकर पी सकती हैं. अगर आपको इसका स्वाद पसंद नहीं आता है तो आप अपने भोजन में हर रोज़ दो चम्मच घी का सेवन कर सकती हैं या गरम-गरम दाल में घी डालकर भी पी सकती हैं.

देसी टॉयलेट का इस्तमाल करें

जो महिलाएं देसी टॉयलेट का इस्तमाल करती हैं उनकी डिलीवरी होने में बड़ी आसानी होती है लेकिन यदि किसी कारणवश आप ऐसा नहीं कर पाती हैं तो आपको गर्भावस्था के आखिरी महीनों में सीढ़ियाँ चढ़ना शुरू कर देना चाहिए. सीढ़ियाँ चढ़ने से महिला के Pelvic Area पर दबाव पड़ता है जिससे गर्भ में शिशु अपनी सही पोजिशन में आ जाता है यानि कि शिशु का सिर नीचे की ओर तथा पैर ऊपर की तरफ आ जाते हैं और नॉर्मल डिलीवरी आसानी से हो जाती है.

प्राणायाम करें

गर्भवती महिला को सुबह-सुबह उठकर Breathing Exercise यानि प्राणायाम करना चाहिए, इससे महिला के पूरे शरीर में रक्त का संचार अच्छी तरह से होता है और फेफड़ों में oxygen भरपूर मात्रा में पहुँचती है.

संतुलित डाइट लें

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए. आपको संतुलित भोजन करना है न कि बहुत ज्यादा खाना है. सही समय पर सही भोजन करें. बहुत ज्यादा खा लेने से या आवश्यकता से अधिक खा लेने से न सिर्फ आपका वज़न बढ़ेगा बल्कि गर्भ में पल रहे शिशु का भी वज़न बढ़ेगा, इससे नॉर्मल डिलीवरी होने में दिक्कतें आ सकती हैं या Cezarian डिलीवरी की संभावना बढ़ सकती है.

इसलिए अपनी डाइट में सिर्फ पोषक तत्वों को ही शामिल करें जैसे कि: आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन भरपूर मात्रा में लें और बाहर के खाद्य-पदार्थ या फ़ास्ट फ़ूड से बिल्कुल दूर रहें क्योंकि फ़ास्ट फ़ूड आपके साथ-साथ आपके शिशु के विकास के लिए भी बहुत हानिकारक हो सकता है.

Hemoglobin लेवल नॉर्मल रहे

गर्भवती महिलाओं को इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए कि गर्भावस्था के पूरे टाइम पीरियड में उनका hemoglobin लेवल नॉर्मल रहे क्योंकि अगर आपके hemoglobin का लेवल काफी कम है तो आपको डिलीवरी के दौरान कई मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

Hemoglobin लेवल यदि कम है तो इसे बढ़ाने के लिए हरी सब्जियां खूब खाएं, रोज़ सुबह अनार का जूस पियें और सलाद में चुकन्दर ज़रूर लें. पूरी प्रेगनेंसी के दौरान रोज़ाना एक सेब और एक अनार का सेवन अवश्य करें. इसके अलावा आप रोज़ एक केला और शहद भी ले सकती हैं क्योंकि केले के साथ शहद लेने से hemoglobin का स्तर बहुत तेजी से बढ़ता है. किशमिश का सेवन करने से भी आपके शरीर में हीमोग्लोबीन का स्तर मेंटेन रहता है.

तनाव मुक्त रहें और ख़ुश रहें

प्रत्येक महिला को चाहिए कि वो पूरी गर्भावस्था के दौरान ख़ुश रहें, तनाव से दूर रहें, पर्याप्त नींद लें और सकारात्मक रहें. यदि आप तनाव में रहती हैं तो आपकी डिलीवरी में कुछ complications आ सकती हैं और डिलीवरी नॉर्मल होने में आपको मुश्किलों का सामना भी करना पड़ सकता है.

इसलिए खुद को तनाव मुक्त रखने के लिए आप ध्यान कर सकती हैं, T.V पर अच्छे धारावाहिक देखिए, अच्छा संगीत सुनिए और रात को सोने से पहले कुछ अच्छा पढ़कर सोइए. हमेंशा ऐसे लोगों के साथ ही बैठें और बात करें जिनसे आपको पॉज़िटिव एनर्जी मिले और आपके अंदर सकारात्मकता आए. रात को सोने से पहले कभी भी चाय या कॉफ़ी न पियें बल्कि इसकी जगह पर आप गुनगुना दूध पीकर सोयें.

ये थे कुछ नॉर्मल डिलीवरी के उपाय जो प्रेगनेंट लेडीज़ के लिए बहुत ही हेल्पफुल हैं और उन्हें ऊपर बताए गये Useful Pregnancy Tips For Normal Delivery को अपने प्रेगनेंसी पीरियड में ज़रुर फ़ॉलो करना चाहिए.

Normal Delivery Tips के लिए ये वीडियो ज़रुर देखिये