यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए? – 9 Foods Avoid in Uric Acid

307
यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए?

जिन लोगों का यूरिक एसिड नॉर्मल रेंज से ऊपर पहुंच जाए उन्हें अपने खानपान पर ध्यान देने की बहुत आवश्यकता होती है. अतः आज हम जानेंगे कि यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए.

बढ़ते हुए यूरिक एसिड को सिर्फ दवाओं से कंट्रोल नहीं किया जा सकता. इसे कंट्रोल करने के लिए आपको अपनी दिनचर्या के साथ-साथ अपने खानपान पर भी विशेष ध्यान देना होगा.

आइए जानते हैं वे कौन-कौन से खाद्य पदार्थ हैं जिनसे आपको यूरिक एसिड में परहेज करना चाहिए.

ये भी ज़रूर पढ़ें:

जानिए यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए?

प्रोटीनयुक्त खाद्य पदार्थों से परहेज करें

यूरिक एसिड के मरीज़ों के लिए अपने आहार में अधिक प्रोटीनयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना बहुत नुक्सानदायक साबित हो सकता है क्योंकि, प्रोटीनयुक्त खाद्य पदार्थों में प्यूरीन नामक तत्व की अधिकता पाई जाती है जो कि यूरिक एसिड को बढ़ाने के लिए ज़िम्मेदार होता है.

इसलिए अपने आहार में प्यूरीन की मात्रा से युक्त खाद्य पदार्थों से परहेज करें. जैसे: दूध, दही, पनीर, मांस, अंडा, मटर, पालक, अधिक प्रोटीनयुक्त दाल, छिलके वाली दाल जैसे: राजमा, मूंग, उड़द आदि.

गोभी, मशरूम और पालक का सेवन न करें

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए डॉक्टर भी गोभी, पालक और मशरूम से दूरी बनाए रखने की सलाह देते हैं. फूलगोभी, पत्तागोभी, पालक और मशरूम में हाई प्रोटीन मौजूद होता है जिसके सेवन से आपक यूरिक एसिड का लेवल और अधिक बढ़ सकता है.

अतः, यदि आप यूरिक एसिड से पीड़ित हैं तो आपको इनके सेवन से बचना चाहिए.

नॉनवेज और सी-फ़ूड का सेवन बंद कर दें

नॉनवेज और सी फ़ूड में सबसे अधिक प्रोटीन की अधिकता पाई जाती है. इनके सेवन से आपके शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने का ख़तरा रहता है और आपको गठिया का तेज दर्द भी हो सकता है.

इसलिए इनका सेवन करना बिल्कुल बंद कर दें. रेड मीट, चिकन मटन, फ़िश, केकड़ा, झींगा आदि का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए.

जंक फ़ूड का सेवन न करें

यूरिक एसिड के मरीज़ को किसी भी प्रकार का जंक फ़ूड, फ़ास्ट फ़ूड, तला-भूना, ख़मीरयुक्त भोजन, आइसक्रीम, अधिक कार्बोहाइड्रेट और अधिक फैट वाला भोजान नहीं करना चाहिए.

ये सभी चीज़ें यूरिक एसिड को बढ़ाती हैं जिससे आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. अतः इन चीज़ों से दूर रहें.

हाई शुगर युक्त ड्रिंक्स आदि का सेवन न करें

हाई यूरिक एसिड की शिकायत होने पर कोल्ड ड्रिंक्स, सॉफ्ट ड्रिंक्स, सोडा, ज्यादा शुगर वाले पैक्ड व डिब्बाबंद जूस आदि का सेवन न करें.

हाई फ्रूक्टोज़ वाले खाद्य पदार्थों से भी परहेज़ करें. जिन फ़लों में शुगर बहुत अधिक मात्रा में मौजूद होती है, ऐसे फ़लों के सेवन से भी आपको बचना चाहिए.

एल्कोहल और चाय से परहेज करें

एल्कोहल यानि शराब का सेवन करना यूरिक एसिड के रोगियों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है. इसके साथ ही दूध वाली चाय का सेवन भी न करें.

आप चाहें तो ग्रीन टी या फिर लेमन टी का सेवन कर सकते हैं.

चावल का अत्यधिक सेवन न करें

यूरिक एसिड में चावल का अत्यधिक सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि चावल में कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में पाया जाता है और यूरिक एसिड के मरीज के लिए अधिक कार्बोहाइड्रेट नुक्सानदायक हो सकता है.

रात के समय तो चावल का सेवन बिल्कुल भी न करें.  

रिफाइंड ऑयल और मूंगफली के तेल का सेवन न करें

आपको अपने भोजन में हाई प्रोटीन युक्त तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. जैसे: सोयाबीन तेल, मूंगफली का तेल, रिफाइंड ऑयल आदि.

ये सभी तेल हाई प्रोटीन और वसायुक्त होते हैं जिनके सेवन से आपका फैट बढ़ता है और फैट बढ़ने से यूरिक एसिड बढ़ने की समस्या उत्पन्न होती है.

इसलिए इनकी बजाय आपको सरसों का तेल और जैतून के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए. जैतून का तेल यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में बहुत कारगर है.

दही और फुल फैट मिल्क से परहेज करें

दही में काफ़ी प्रोटीन होता है जो आपका यूरिक एसिड और भी ज्यादा बढ़ा सकता है इसलिए, जिन लोगों का यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है उन्हें दही से भी परहेज करना चाहिए. दही में मौजूद ट्रांस फैट भी यूरिक एसिड को बढ़ाता है.

दही की जगह आप छांछ या लस्सी का सेवन कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखें कि आप जो छांछ ले रहे हैं वह बहुत अधिक खट्टी नहीं होनी चाहिए.

फुल फैट मिल्क का सेवन भी बंद कर दें. यह आपका यूरिक एसिड बढ़ा सकता है.